Bpsc syllabus 2020 in hindi || full details about bpsc exam.

किसी भी exams में सफलता पाने के लिए उसके सिलेबस को जाना बहुत जरूरी होता है। इस पोस्ट में हमलोग 66th bpsc syllabus के बारे में विस्तार से जानेंगे और साथ ही साथ बीपीएससी की तैयारी कैसे करें, इसको भी समझेंगे।

दोस्तों Bihar Public Service Commission एक सिविल सर्विसेज है। जिसके माध्यम से बिहार राज्य में आप बड़े अधिकारी बनने का सपना पूरा कर सकते हैं। bpsc आपको बहुत ही सम्मानजनक ओहदे पर पहुंचाता है। अतः इसीलिए इसकी तैयारी भी आपको बहुत ही मेहनत और स्मार्ट स्टडी से करना होगा। आइए अब समझते हैं bpsc exams pattern के बारे में।

Bpsc syllabus

Bpsc syllabus में कुल कितने subjects है?

Bpsc का exam तीन चरणों में होता है। पहला प्रीलिम्स, दूसरा मेंस और तीसरा इंटरव्यू। इसी के अनुसार अब हम सब्जेक्ट के बारे में समझेंगे। सबसे पहले जानेंगे कि प्रीलिम्स में कौन-कौन सा सब्जेक्ट है और प्रश्न कहां से पूछे जाते हैं।

Bpsc pre ( प्रारंभिक परीक्षा ) :  यह महज एक जांच परीक्षा है जिसके अंक मुख्यय परीक्षा मे नहीं जोड़े जाएंगे। इस परीक्षा में 150 प्रश्न पूछे जाते हैं। प्रारंभिक परीक्षा की अवधि 2 घंटे की होती है तथा सभी प्रश्न बहुविकल्पीय होते हैं, जो कि हिंदी और अंग्रेजी दोनो माध्यम में होते हैं।

प्रारंभिक परीक्षा में कौन-कौन से विषय से प्रश्न पूछे जाते हैं :  इस परीक्षा में इतिहास (40 प्रश्न), समसामयिक घटना (35-40 प्रश्न), गणित (10 प्रश्न), सामान्य विज्ञान, भूगोल, बिहार के भूगोल, रिजनिंग (8-9 प्रश्न), भारतीय राजनीतिक शास्त्र और अर्थशास्त्र, अंतर्राष्ट्रीय महत्वव की समसामयिक घटनाएं, भाारत का इतिहास तथा बिहार के इतिहास की प्रमुख विशेषताएं से प्रश्न पूछे जाते हैं।

Bpsc syllabus में Mains ( मुख्य परीक्षा ) के विषय कौन कौन से हैं

लिखित सारणी में आपको मुख्य परीक्षा के अनिवार्य विषयों के बारे में दर्शाया गया है। यह तीन विषय अनिवार्य है जिसमें सामान्य हिंदी में 30% अंक प्राप्त करना अनिवार्य होगा लेकिन मेधा निर्धारण के लिए इसकी गणना नहीं की जाएगी।

विषय कोड विषय पूर्णांक परीक्षा की अवधि
01 सामान्य हिंदी 100 अंक 2 घण्टे
02 सामान्य अध्ययन पत्र 1 100 अंक 2 घण्टे
03 सामान्य अध्ययन पत्र 2 100 अंक 2 घण्टे

एक्छिक विषय ( optional subject ) : अब बीपीएससी के मुख्य परीक्षा के एक्छिक विषयों के बारे में जानते हैं की बीपीएससी के एक्छिक विषयों में कौन-कौन से विषय शामिल है। प्रत्येक अभ्यर्थियों को इन विषयों में से केवल एक वैकल्पिक विषय का चयन करना होगा। जिसमें पूर्व के दोनों पत्रों के पाठ्यक्रमों (syllabus) को मिलाकर 300 अंकों का मात्र एक ही प्रश्न पत्र होगा एवं परीक्षा की अवधि 3 घंटे की होगी।

04.  कृषि विज्ञान
05.  पशुपालन तथा पशु चिकित्सा विज्ञान
06 मानव विज्ञान
07.   वनस्पति विज्ञान
08 रसायन विज्ञान
09.  सिविल इंजीनियरिंग
10.  वाणिज्यिक शास्त्र तथा लेखा विधि
11.  अर्थशास्त्र
12.  विद्युत इंजीनियरिंग
13.  भूगोल
14.  भू-विज्ञान
15.  इतिहास
16.  श्रम एवं समाज कल्याण
17.  विधि
18.  प्रबंध
19.  गणित
20.  यांत्रिक इंजीनियरिंग
21.  दर्शनशास्त्र
22.  भौतिकी
23.  राजनीति विज्ञान तथा अंतरराष्ट्रीय संबंध
24.  मनोविज्ञान
25.  लोक प्रशासन
26.  समाजशास्त्र
27.  संख्यिकी
28.  प्राणी विज्ञान
29.  हिंदी भाषा और साहित्य
30.  अंग्रेजी भाषा और साहित्य
31.  उर्दू भाषा और साहित्य
32. बांग्ला भाषा और साहित्य
33.  संस्कृत भाषा और साहित्य
34.  फारसी भाषा और साहित्य
35.  अरबी भाषा और साहित्य
36. पाली भाषा और साहित्य
37. मैथिली भाषा और साहित्य

व्यक्तित्व परीक्षण (Interview) Bpsc syllabus के भाग 3

मुख्य परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद उम्मीदवारों से व्यक्तित्व परीक्षण लिया जाता है। व्यक्तित्व परीक्षण 120 अंको का होता है। तदोपरांत मुख्य परीक्षा के 900 अंक एवं साक्षात्कार के लिए 120 अंक कुल 1020 अंकों के आधार पर मेधा सूची तैयार की जाती है। आयोग सफल उम्मीदवार को उनमें से किसी भी सेवा या पद के लिए अनुशंसित करने का अधिकार रखता है, जिसके लिए उम्मीदवार ने इच्छा प्रकट की है तथा जिसके लिए आयोग उसे योग्य समझता है।

Bpsc के अंर्तगत कौन-कौन से पोस्ट आते है ?

Bpsc की syllabus पढ़ने के बाद अब आपके मन में यह यह प्रश्न जरूर आ रहे होंगे कि बीपीएससी के अंतर्गत आखिर कौन कौन से पोस्ट आते हैं। bpsc किन पदों की पेशकश करता है। बीपीएससी के अंतर्गत जो शीर्ष पद आते हैं वह वरीयता के क्रमानुसार इस प्रकार हैं :- 1. बिहार प्रशासनिक सेवा 2. बिहार पुलिस सेवा 3. बिहार वित्तीय सेवा  4. उत्पाद निरीक्षक  5. ग्रामीण विकास अधिकारी 6. जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी  7. रोजगार अधिकारी  8. बिहार श्रम सेवा  9. गन्ना अधिकारी।

बिहार में उपयुक्त सभी पदों का आवंटन BPSC करती है। अधिकारी अपने-अपने कार्यालय के प्रमुख होते हैं और उनसे संबंधित निर्णय ले सकते हैं। इन पदों की प्रोन्नति भी होती है और इन अधिकारियों को वरिष्ठ स्तर पर जाने के भी अब अवसर उपलब्ध होते हैं। bpsc के द्वारा चुने गए अधिकारियों की वेतन भी बहुत अच्छी-खासी होती है और साथ ही इनकी छवि समाज में सम्मानजनक वरिष्ठ नागरिक के रूप में होती है।

Bpsc syllabus के अनुसार कौन सा Books पढ़े और तैयारी कैसे करें

Bpsc के post के बारे में जानने के बाद अब आपको  अधिकारी बनने का इच्छा हो रही होगी। तो आइए समझते हैं कि इस एग्जाम को पास करने के लिए हमें कौन-कौन से बुक्स को पढ़ना चाहिए।

सभी अभ्यर्थियों को यह ध्यान देना चाहिए कि किसी भी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने के लिए उसके सिलेबस को जानना अति अनिवार्य है। अगर हम किसी भी परीक्षा के सिलेबस के अनुसार तैयारी करते हैं तो हमारा बहुत चांस बनता है कि हम उस परीक्षा को पास कर लेंगे। हर परीक्षा की एक मानदंड होती है और हमें उसी मानदंड के अनुसार अपनी तैयारी करनी चाहिए। अब मैं आपको बताऊंगा कि Bpsc syllabus के अनुसार कौन सा books पढ़ना चाहिए।

प्रारंभिक परीक्षा के लिए मुख्य परीक्षा के लिए

● सामान्य विज्ञान के लिए- रेलवे समान्य विज्ञान speedy का। 

● सामान्य ज्ञान के लिए- 6-10 class ncert का book

● online या offline mock test. Mock test के लिए आप इस वेबसाइट पर दिए गए टेस्ट से भी तयारी कर सकते है।

● किसी भी youtube channel से daily current affairs पढ़े।

● History : राम शरण शर्मा writer का भारत का प्राचीन इतिहास

● Polity : एम. लक्ष्मीकांत writer का भारत की राज्यव्यवस्था

● Geography : माजिद हुसैन writer का भारत एवं विश्व का भूगोल।

Note : class 6 से 10 तक के ncert का book जरूर पढ़ें। अगर सम्भव हो सके तो पटना विश्वविद्यालय के तीन वर्षीय ऑनर्स के syllabus जरूर पढ़ें जो भी आपका optinal विषय हो ।

 

https://youtu.be/LiwpQXbEXYU
Most watch this video

BPSC की बेहतर तैयारी करने के लिए नीचे कुछ mock test दिए गए आपलोग इसे जरूर देखें :-

 

Updated: June 25, 2020 — 6:27 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.